ट्रेन के पीछे एक्स X क्यों लिखा रहता है

ट्रेन के पीछे एक्स क्यों लिखा रहता है

ट्रेन के पीछे एक्स क्यों लिखा होता है

 भारत में ट्रेन सफर का एक बहुत बड़ा हिस्सा बन चुका है जिससे हर दिन, करोड़ों लोग सफर कर रहे हैं अधिकतर लोगों का आना-जाना ट्रेन से ही है लेकिन फिर भी बहुत से लोग हैं जो इस उस ट्रेन के बारे में कुछ जरुरी फैक्ट नहीं जानते जिससे वो रोजाना सफ़र करते हैं तो हम आज ट्रेन के बारे में कुछ ऐसे ही फैक्ट के बारे में बताएंगे जिनके बारे में आपको जरुर जानना चाहिए जिनमे से कुछ तो ऐसे टॉपिक जिसे आपने भी कभी न कभी नोटिस किया होगा।  फिर आपके मन में सवाल भी आया होगा और आप यह भी जानना चाहते होंगे की आखिर ट्रेन के लास्ट बोगी के पीछे एक्स X क्यों लिखा होता है? तो आज हम इसी टॉपिक पर बात करेंगे ट्रेन के अंतिम डिब्बे के पीछे एक्स का निशान क्यों होता है?

ट्रेन के पीछे एक्स क्यों लिखा रहता है 

ट्रेन से हर रोज लाखों करोड़ों लोग सफर कर रहे हैं जिन्हें अपने गंतव्य स्थान तक सही सलामत पहुँचाना रेलवे के लिए बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। रेलवे अपनी जिम्मेदारी को निभाने के लिये बहुत सारे नियम और कानून को बनाया है जिसका इस्तेमाल रेलवे करता है अपने तरीके से रेलवे खुद को सुरक्षित रखने में सछम भी है।ट्रेन के पीछे एक्स क्यों लिखा रहता है भी उन्हीं नियमों में से एक है। 

ट्रेन के लास्ट बोगी के पीछे X लिखा होने का मतलब यह होता है कि वह लास्ट का बोगी है उसके पीछे कोई बोगी नहीं हैं इससे यह होता है कि ट्रेन जब एक स्टेशन से दूसरे स्टेशन पहुंचती है तो स्टेशन के कर्मचारी ट्रेन का सही तरीके से जांच करते हैं अगर ट्रेन के अंतिम बोगी में X नहीं लिखा है तो इसका मतलब है की ट्रेन का कुछ बोगी पीछे ही छूट गया है इसलिए सभी स्टेशन मास्टर की जिम्मेदारी होती है की ट्रेन जब स्टेशन पर पहुचे तो इसकी अच्छी तरह से निगरानी करे और इसकी सूचना लोकोपायलट को दें। 

इसके साथ वह ट्रेन के पीछे लिखे एक्स X को भी देखते हैं उसके बाद वह ड्राइवर को अपने सांकेतिक भाषा में  जानकारी देते हैं कि ट्रेन पूरी है, और ट्रेन को आगे ले जाया जा सकता है अब आगे के स्टेशन का जिम्मेदारी बन जाता है कि वह भी ड्राइवर हो जानकारी देते रहें इससे ट्रेन से अभी बोगी जुड़े होने का संकेत मिलता रहे। 

ट्रेन के अन्तिम बोगी के पीछे LV क्यों लिखा होता हैं। 

ट्रेन के पीछे एक्स क्यों लिखा होता है 1

अब अपने जन लिया की  ट्रेन के पीछे एक्स क्यों लिखा होता है और अब आपके अन्दर एक और सवाल भी आ रहा होगा की ट्रेन की लास्ट बोगी के पीछे एक बड़े X के साथ-साथ LV भी लिखा होता है इसका मतलब क्या होता है तो  LV का  Full Form Last Vehicle होता है। इसके द्वारा भी स्टेशन के कर्मचारी ड्राइवर को समय-समय पर जानकारी देते रहते हैं,  की ट्रेन से सभी बोगी आपस में जुड़े हैं। 

ट्रेन के अन्तिम बोगी के पीछे Red Light 
ट्रेन के पीछे एक्स क्यों लिखा होता है 2

ट्रेन के लास्ट बोगी के पीछे बड़े X और LV के साथ Red Light इस लिये होता है क्योंकि दिन में बड़े X और LV को स्टेशन के कर्मचारी आसानी से देख पाते हैं मगर रात में उनसे चूक भी हो सकता है  इसलिए रेलवे ने ट्रेन के लास्ट बोगी के पीछे Red Light भी लगा दिया है।  जिससे कि रात में भी स्टेशन के कर्मचारी रेल ड्राइवर के साथ-साथ और आगे के कर्मचारी को सही जानकारी दे पाये और ट्रेन कोई भी बड़े हादसा से बच सके।

लोगो द्वारा पूछे जाने वाले कुछ और सवाल-

प्रश्न- ट्रेन के कितने डिब्बे होते है (how many wheels does a train have)
उत्तर- अब आपको बताते है की आखिर ट्रेन के कितने डिब्बे होते है तो यह नहीं बताया जा सकता क्योंकि ट्रेन में यात्रियों और इंजन के अनुसार डिब्बे जोड़ दिए जाते हैं तो इस प्रश्न का सही जवाब नहीं दिया जा सकता हालाँकि अगर यही प्रश्न किसी एक ट्रेन के बारे में पूछा जाय की उस ट्रेन में कितने डिब्बे है  तो कोई सटीक जवाब हो सकता है की पर्सनली उस ट्रेन में कितने डिब्बे हैं।
प्रश्न- ट्रेन में कितने पहिये होते हैं
उत्तर- जिस तरह से यह नहीं बताया जा सकता की ट्रेन के कितने डिब्बे होते है उसी तरह से यह भी नहीं बताया जा सकता की ट्रेन में कितने पहिये होते हैं क्योंकि डिब्बों की संख्या बढ़ने या घटने पर ट्रेन की पहियों में भी कमी और वृद्धि होती जाती है पहियों की संख्या डिब्बो की संख्या के अनुसार ही बढती और घटती हैं। 

Conclusion

हमे आशा है की आपको जानकारी हो गया होगा की ट्रेन के पीछे एक्स X क्यों लिखा रहता है इसके साथ ही आपको ट्रेन के कुछ महत्वपूर्ण फैक्ट्स के बारे में भी पता चल गया होगा यहाँ हमने अपनी तरफ से पूरी जानकारी देने का प्रयास किया है फिर भी अगर कही कोई भी कमी हो तो कमेंट करके हमें जरुर बताएं ताकि हम अपने इस आर्टिकल को और अधिक ज्ञानवर्धक बना सकें और Read Hindi News के पाठको को सम्पूर्ण और ज्ञानपूर्ण लेख मिल सके धन्यवाद।

Leave a Comment