साइबर क्राइम क्या है और Cyber Crime के प्रकार

Table of Contents hide
2 Cyber Crime के प्रकार –

साइबर क्राइम क्या है और Cyber Crime के प्रकार –

इस आर्टिकल में आपको बताएंगे की साइबर क्राइम क्या है और Cyber Crime के प्रकार कितने हैं आपको इसके बारे में जरुर जानना चाहिए ताकि आप हमेशा Cyber criminals से बचे रहे अगर आप भी साइबर अपराध से बचना चाहते है तो साइबर अपराध के बारे में जानकारी जरुर प्राप्त कर ले और सरकार द्वारा बनाये गए एक विशेष टीम साइबर फाइनेंशियल एक्सपर्ट (Cyber Financial Expert) के विषय में भी इस आर्टिकल में बताया गया है। 

साइबर क्राइम क्या है और Cyber Crime के प्रकार

अब आपको बताते हैं की असल में साइबर क्राइम क्या है ( What is Cyber Crime ) अब भारत में टेक्नोलॉजी बढ़ गई है और कोरोना की वजह से सभी काम ऑनलाइन हो गए हैं जैसा कि आप सबको पता ही होगा खरीददारी से लेकर पढ़ाई तक अब सब कुछ ऑनलाइन ही हो रहा है सब कुछ बस आप मोबाइल से ही कर रहे हैं फिर चाहे आपको ट्रेन का टिकट बुक ना हो या बर्थडे सेलिब्रेशन की तैयारी करना हो सबके लिए ऑनलाइन तैयारी की जा रही है लेकिन जरा सावधान इन सभी कामों में आपका बैंक डिटेल या डेबिट कार्ड डिटेल लगता है जिसकी कारण से आपकी बैंक अकाउंट का डिटेल आपके मोबाइल में सेव हो जाता है और साइबर क्रिमिनल इसी का फायदा उठा कर आपका बैंक अकाउंट खाली कर देते हैं इसे ही कहते हैं फाइनेंसियल साइबर क्राइम (Financial Cyber Crime) और साइबर क्राइम (Cyber Crime ) केवल बैंक अकाउंट खाली करने को ही नहीं कहते बल्कि वह सारे कामों को कहते हैं जो ऑनलाइन के माध्यम से आपके लिए खतरा बने हुए हैं फिर चाहे वे आपका डाटा चुरा रहे हो या फिर आपको ट्रैक कर रहे हो। 

Cyber Crime के प्रकार – 

हालांकि साइबर क्राइम के प्रकार सीमित नहीं है लेकिन कुछ ऐसे प्रसिद्ध साइबर क्राइम के तरीके हैं जिनके विषय में आपको जानना चाहिए और खुद को इन सभी से बचाना चाहिए जो निम्न हैं-

 (1) बैंकिंग से संबंधित साइबर क्राइम (Cyber Crime Related to Bank) –

बैंक डिटेल सबसे ज्यादा सेक्योर रखने वाला डाटा है लेकिन कुछ अटैकर्स ऐसे भी हैं जो आपके सिक्योरिटी सिस्टम को भी तोड़ देते हैं। 

कैसे होता है बैंक डिटेल से चोरी- 

जैसा की आप लोगों को कई बार ऐसे कॉल आते हैं जिसमें कुछ लो बैंक के कार्यकर्ता होने की बात करते हैं और आपका ATM नंबर या अकाउंट नंबर या CVV या रजिस्टर मोबाइल नंबर पूछते हैं या तो आपका पैन नंबर पूछते हैं जिसे जानने के बाद वह लोग आपका पैसा निकाल लेते हैं । 

कई बार कुछ लोग आपके मोबाइल पर फोन करते हैं और बोलते हैं कि आप इस लकी ड्रा में विजेता हैं आप अपना बैंक डिटेल दीजिए आपके अकाउंट में पैसे भेजने हैं लेकिन जैसे ही उन्हें डिटेल मिलता है आपका अकाउंट खाली हो जाता है तो इन सभी से बचने के लिए आप किसी को भी कोई भी डिटेल्स ना दे अगर वह बोलते हैं कि वह बैंक के कार्यकर्ता है तो भी नहीं क्योंकि बैंक कभी भी अपने कस्टमर का डाटा फोन पर नहीं पूछता तो इन सभी साइबर क्राइम से सावधान रहें। 

(2) मोबाइल का डाटा चोरी सम्बन्धी साइबर क्राइम ( Cyber Crime Related to Mobile Data Hacking )-

आजकल मोबाइल का डाटा चोरी होना बहुत बड़ा परेशानी बन चुका है लोगों को समझ नहीं आ रहा कि आखिर अपना डाटा सुरक्षित कैसे रखें। 

मोबाइल से डाटा चोरी होने का अर्थ है कि आपके मोबाइल में जो कुछ भी सेव है जैसे फोटो, वीडियो, बैंक डिटेल, फोन कॉल,  डॉक्यूमेंट और वेब हिस्ट्री जैसे महत्वपूर्ण डाटा का चोरी होना जिससे आपको बहुत ज्यादा नुकसान हो सकता है। 

किन कारणों से होता है मोबाइल डाटा चोरी –

वैसे तो कोई नहीं बता सकता कि अटैकर्स किन तरीकों से आपके डाटा को चोरी कर सकते हैं लेकिन कुछ प्रसिद्ध तरीके हैं जिन्हें इस आर्टिकल में मेंशन किया गया है जो निम्नलिखित हैं।

मोबाइल एप्स की सहायता से- 

एप्स जिनसे आपकी डाटा अधिकतर चोरी होती है आजकल साइबर अटैक करने वाले लोग यह तरीका अपनाएं हैं कि वह सभी किसी पैड ऐप का क्रैक वर्जन बनाते हैं जिसे किसी फेक वेबसाइट पर अपलोड करते हैं और उसका लिंक आप तक पहुंचाते हैं अब आप जैसे ही उनको अपने मोबाइल में डाउनलोड करते हैं वह ऐप्स चोरी-चोरी आपका डाटा अटैकर्स के पास पहुंचाता है जिससे आपका डाटा अटैकर्स के पास पहुंच जाता है और तो और कुछ पॉपुलर एप्स भी ऐसा करते हैं जिनके कारणों से भारत में बहुत सारे ऐप्स को 2020 में प्रतिबंधित किया गया जो आपकी माइक्रोफोन और कैमरा जैसे महत्वपूर्ण कंपोनेंट्स से भी आपका डाटा चुरा सकते हैं यह Cyber Crime के प्रकार में प्रमुख प्रकार है 

SMS के जरिए साइबर क्राइम ( Cyber Crime from SMS )-

आजकल आपके मोबाइल पर अटैकर्स sms भेजते हैं जहां पर आपको पैसे जीतने या किसी तरह का लालच भरा मैसेज भेजा जाता है जहां पर एक लिंक दिया जाता है आप जैसे ही लिंक पर क्लिक करते हैं आपके मोबाइल में वायरस आ जाता है जो आपका डाटा अटैकर्स तक पहुंचाता है जिससे बचने के लिए आप किसी भी फालतू लिंक पर क्लिक ना करें। 

फ्री वाई फाई के जरिए साइबर क्राइम (Cyber Crime from FreeWi Fi) – 

आजकल सभी जगह पर लगभग wifi लगे होते हैं लेकिन सभी wifi पासवर्ड से प्रोटेक्ट किये जाते हैं लेकिन कई जगह फ्री वाई फाई लगे होते हैं जिनमें अटैकर्स का भी wifi हो सकता है इस तरह से अटैकर्स कोई भी फ्री वाई फाई जनरेट करते हैं जो अधिकतर पब्लिक प्लेस पर जनरेट किया जाता है ऐसे में जब आप अटैकर के wifi से कनेक्ट होते हैं तो वह कई टूल्स और प्रोग्रामिंग के जरिए आपका डाटा चुरा लेते हैं। 

इससे बचने के लिए आप किसी भी फ्री वाई फाई से अपना मोबाइल कनेक्ट ना करें और अगर आपको बहुत जरूरी है तो आप किसी स्पेशल संस्था की wifi से कनेक्ट करें जैसे रेलवे या किसी भरोसेमंद के wifi से कनेक्ट हो सकते हो और आपका डाटा चोरी होने से बच जाए। 

 अगर इन सभी सावधानियां के बाद भी आप का डाटा लीक हो जाए और आपके बैंक अकाउंट से पैसे चुरा लिया जाए तो भारत सरकार की यह खास टीम आपका पैसा वापस लाने में करेगी आपका मदद- 

 जैसा कि साइबर सिक्योरिटी सभी देशों की प्राथमिकता बनती जा रही है वही जो देश इस पर पहले अग्रसर हो रहे हैं उनका डाटा चोरी होने से बच जा रहा है। 

इसी क्रम में भारत सरकार की गृह मंत्रालय ने साइबर सिक्योरिटी एवं महिला और बच्चों के खिलाफ होने वाले साइबर क्राइम को रोकने के लिए एक विशेष टीम का गठन किया है जिसमें पूरे 12615 एक्सपर्ट हैं जो आपकी साइबर सिक्योरिटी के लिए गठित किए गए हैं।

क्या काम करेगी यह साइबर सुरक्षा टीम-

आपके अकाउंट से धोखाधडी कर पैसे निकालने वाले साइबर क्रिमिनल को रोकने के लिए भारत सरकार ने ये टीम बनाई है यह टीम आपके चोरी हुए पैसे को वापस लाएगी एवं क्रिमिनल के खिलाफ कार्यवाही करेगी इसके लिए देश भर में लेबोरेटरी बनाने का काम तेजी से चल रहा है और इस टीम को साइबर फाइनेंशियल एक्सपर्ट (Cyber Financial Expert)  कहा जाएगा। 

कौन लोग हैं साइबर सुरक्षा टीम में – 

इस टीम में कुल 12615 लोग हैं होम मिनिस्ट्री के ऑफिसर ने बताया कि यह सभी लोग पुलिस, सरकारी वकील और ज्यूडिशियल सर्विस से जुड़े लोग हैं जोकि साइबर फाइनेंसियल फ्रॉड से पीडित लोगों की मदत तो करेंगे ही साथ ही महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हो रहे साइबर अपराध से पीडित लोगों की भी मदद करेंगे। 

साइबर सुरक्षा टीम से कैसे करेंगे शिकायत- 

  • साइबर क्राइम के मामलों की रिपोर्ट के लिए एक पोर्टल वेबसाइट तैयार किया जा रहा है। 
  • पीडित लोगों को शिकायत के लिए कहीं जाने की आवश्यकता नहीं वह अपने घर से ही अपने मोबाइल से उस पोर्टल पर शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। 
  • शिकायत दर्ज कराने के बाद संबंधित अधिकारी स्वयं पीड़ित व्यक्ति से संपर्क करेगा। 
  • महिलाओं के खिलाफ साइबर अपराध रिपोर्ट भी इसी पोर्टल के माध्यम से ही दर्ज की जाएगी। 
  • बच्चों के खिलाफ साइबर अपराध रिपोर्ट भी इसी पोर्टल पर ही दर्ज की जाएगी
  • खास केस से संबंधित शिकायतकर्ता की जानकारी सरकार द्वारा गोपनीय रखी जाएगी।

Conclusion-

अब हमें आशा है की हम आपको साइबर क्राइम क्या है (What is Cyber Crime) के बारे में पूरी जानकारी दे चुके हैं और आप Cyber Crime के प्रकार के विषय में जानकारी प्राप्त कर चुके हैं और साइबर क्राइम से बचाव के उपाय और  सरकार के विशेष टीम की पूरी जानकारी, जानकारी के विषय में अपना अनुभव हमसे जरुर साझा करें धन्यवाद।

Leave a Comment